रियल एस्टेट: इस साल हाउसिंग की मांग में आएगी ज्यादा तेजी, फ्लैट्स से लेकर प्लॉट्स के लिए आ रहे हैं ग्राहक


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रियल एस्टेट

ट्राईसिटी के प्रॉपर्टी बाजार में अक्टूबर-नवंबर से प्रॉपर्टी को लेकर इंक्वायरी का बढ़ना शुरू हुआ था और वह इंक्वायरी अब खरीदारी में बदलना शुरू हो गई है। इन ट्रेंड्स को देखते हुए साल 2021 प्रॉपर्टी बाजार के लिए बेहतर साबित होने जा रहा है। अलग-अलग प्रॉपर्टी सर्वे रिपोर्ट्स के अनुसार कोरोना के बाद से लोगों में अपने घर की चाहत बढ़ी है और ट्राईसिटी में ये रुझान और भी तेजी से बढ़ा है।

ट्राईसिटी के डेवलपर भी बीते दो-तीन सालों के बाद पहली बार मान रहे हैं कि इंक्वायरी के साथ ही बिक्री भी बढ़ी है। फेस्टिव सीजन में ही मांग में तेजी का रुझान दिखना शुरू हो गया था, जो अब तेजी पकड़ रहा है। ग्राहकों में ये धारणा भी बढ़ती जा रही है कि अगर तेजी का रुझान जारी रहा तो आने वाले दिनों में डेवलपर फ्लैट्स के दाम बढ़ाना शुरू कर देंगे।

डेवलपर्स की तरफ से कोरोना के दौर में दी जा रही छूट और ऑफर्स पहले ही कम होना शुरू हो चुकी हैं। स्टील और सीमेंट के दामों में आई तेजी ने भी इस तरह के हालात पैदा किए हैं कि घरों के दाम बढ़ सकते हैं। जिसके चलते लोगों में खरीदारी का मूड तेजी से मजबूत हुआ है।

प्रॉपर्टी सर्वे रिपोर्ट्स के अनुसार महानगरों की तुलना में टीयर 2 और टियर 3 शहरों में हाउसिंग की मांग अधिक बढ़ रही है। वहां पर वन और टू बीएचके के प्रोजेक्ट्स में भी मांग आ रही है। लोग भीड़भाड़ वाले माहौल से निकल कर बेहतर सुविधाओं वाले हाउसिंग प्रोजेक्ट्स की तरफ जा रहे हैं। होम लोन की दरों में आई कमी ने भी प्रॉपर्टी की खरीदारी को तेज किया है।

लोगों का रुझान गेटेड सोसायटीज की तरफ बढ़ा…

प्रतीक मित्तल, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, सुषमा ग्रुप ने कहा कि साल 2021 में ट्राईसिटी में गेटेड सोसायटी के प्रति मांग में बढ़ोतरी दर्ज होगी। कोविड के बाद लोगों का रुझान गेटेड सोसाइटियों की तरफ बढ़ा है, क्योंकि ये पूरी तरह से सुरक्षित और हेल्दी लाइफस्टाइल उपलब्ध करने में सक्षम हैं।

इसके साथ ही योजनाबद्ध कमर्शियल डेवलपमेंट में भी दिलचस्पी देखेंगे, क्योंकि मॉल और ऑफिस स्पेस की आवश्यकता बढ़ेगी। रियल इस्टेट सेक्टर भी युवाओं की ओर से अधिकाधिक निवेश दिखेगा अब मिलेनियल कमर्शियल प्रॉपर्टी में निवेश के लिए काफी आकर्षित हो रहे हैं।

नौजवानों के बीच कमर्शियल स्पेस की मांग भी बढ़ी है क्योंकि कोविड -19 के बाद लोग आय के अतिरिक्त स्रोत की तलाश में हैं और कमर्शियल से रेंटल इनकम पाना एक स्मार्ट तरीका है। युवा प्रोफेशनल कमर्शियल प्रॉपर्टीज को अपनी पेंशन योजना के तौर पर देखते हैं।

दूसरे शहरों से आकर लोग यहां बस रहे हैं…
नारेडको के नेशनल प्रेसिडेंट डॉ. निरंजन हीरानंदानी ने कहा कि 2020 रियल इस्टेट सेक्टर के लिए एक अनोखे ट्रेंड्स का साल रहा है। टियर 2 और टियर 3 शहरों में प्रॉपर्टी की मांग बढ़ी है, क्योंकि महानगरों से और दूसरे देशों से (एनआरआई) माइग्रेट होकर इन शहरों की तरफ गए हैं। अगर देश के उत्तरी क्षेत्र की बात करें तो ट्राइसिटी और इसके आसपास के क्षेत्रों ने एक ऐसे बाजार की नींव रखी है जो तेजी से बढ़ रही है।

इस आधार पर यह कहा जा सकता है की आने वाला वर्ष 2021 अनुकूल रिटर्न का वादा करता है कि लोगों की जीवनशैली महामारी के प्रभावों पर काबू पाने के बाद तेजी से बदल रही है। रेजिडेंशियल स्पेस जो समग्र जीवन, अद्वितीय सुविधाओं और आदर्श स्थान के साथ एक आदर्श घर का प्रतीक बन जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *