विदेश से आई मदद: ऑक्सीजन सिलेंडर से डिवाइस कनेक्ट करते ही बन जाएगा वेंटीलेटर, मेडिकल कॉलेज को US से दान में मिले उपकरण


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Ventilator Will Be Made As Soon As The Device Is Connected To The Oxygen Cylinder, Donated Equipment From The US To The Medical College

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेटाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

US से मिले उपकरण।

द अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन की ओर से काेटा मेडिकल काॅलेज काे 300 सिंगल यूज वेंटीलेटर और 150 मल्टी यूज माॅनीटर्स मिले हैं। मेडिकल काॅलेज के निश्चेतना विभाग के डाॅक्टराें ने आर्टिफिशियल लंग्स पर डेमाे कर लिया है। ये दाेनाें ही उपकरण बेहद उपयाेगी माने गए हैं और आने वाले समय में इनका यूज भी किया जाएगा।

एनेस्थीसिया विभाग के प्राेफेसर डाॅ. संजय कालानी ने भास्कर काे इनके यूज के बारे में पूरी जानकारी दी। उन्हाेंने बताया कि वेंटीलेटर वाले मरीज के शिफ्टिंग के वक्त इनका यूज किया जाएगा, अब तक इसके लिए पाेर्टेबल वेंटीलेटर की जरूरत हाेती है।

मरीज जयपुर तक आसानी से शिफ्ट किए जा सकेंगे

डाॅ. कालानी ने बताया कि हमने इनका आर्टिफिशियल लंग्स पर डेमाे कर लिया है। किसी राेगी काे वेंटीलेटर पर एमबीएस से नए अस्पताल में शिफ्ट करना है या राेगी काे सीटी स्कैन या MRI जैसी जांच कराने भेजना है, ऐसे में पाेर्टेबल वेंटीलेटर युक्त एंबुलेंस चाहिए हाेती है या फिर अंबु बैग के जरिए बहुत रिस्की प्रक्रिया से मरीज काे शिफ्ट कराना हाेता है। अब यह डिवाइस सीधे नाॅर्मल ऑक्सीजन सिलेंडर से कनेक्ट हाे जाएगी और साथ में माॅनीटर पर सारे पैरामीटर सेट किए जा सकेंगे। इसके जरिए मरीज काे काेटा से जयपुर तक भी आसानी से शिफ्ट कराया जा सकता है।

विषम परिस्थितियाें में ICU में यूज कर सकते हैं

डाॅ. कालानी ने बताया कि विषम परिस्थितियाें में इस डिवाइस काे ICU में भी यूज किया जा सकता है, लेकिन वह अधिकतम 24 घंटे तक ही संभव है।

राज्य को मिले 6 हजार वेंटीलेटर व 3 हजार मॉनीटर

उपकरणों के लोकार्पण को लेकर शुक्रवार को हुए वर्चुअल समारोह में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन केे सहयोग के लिए साधुवाद व्यक्त किया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *