शादी कराने के नाम पर सैकड़ों से ठगी: 12वीं पास युवक ने महिलाओं से मीटिंग करवाने का झांसा देने के लिए बनाई फर्जी मेट्रीमोनियल साइट, मजदूर की शिकायत पर कॉल सेंटर सील; 11 मोबाइल फोन और 70 सिम बरामद


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Fake Matrimonial Site Was Duped By Lakhs, Students Of Barvi Cheated Hundreds Of People In The Name Of Getting Married, Cigar Cell Recovered 70 Sim 11 Mobiles

लुधियाना7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लुधियाना में साइबर क्राइम पुलिस ने एक फर्जीवाड़े का खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक यहां सिर्फ 12वीं पास एक लड़का फर्जी कॉल सेंटर चला रहा था और शादी करवाने के नाम पर लोगों को ठगता था। उसने एक फर्जी मेट्रीमोनियल साइट भी बना रखी थी। एक मजदूर की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने अब इस फर्जीवाड़े पर नकेल कस दी है। उसके कॉल सेंटर को सील करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही 11 मोबाइल फोन और 70 सिम कार्ड भी बरामद किए हैं। पूछताछ की जा रही है कि उसे यह आइडिया आया कहां से और उसने पूरा नेटवर्क कैसे खड़ा किया।

सब इंसपेक्टर जतिंदर सिंह ने बताया कि उन्हें एक व्यक्ति ने फोन करके शादी करवा देने के झांसे संबंधी शिकायत की थी। उसे कहा गया था कि उसकी महिला से मीटिंग फिक्स करवा दी जाएगी, मगर इसके लिए 10 हजार रुपए देने होंगे। उसने उसके खाते में 3500 रुपए जमा करवा दिए और उसके बाद वह नंबर ही बंद हो गया। इस शिकायत पर पुलिस ने जांच शुरू की तो वह सिविल लाइन में रहने वाले ललित तक पहुंचे। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जब उससे पूछताछ की तो पूरी जालसाजी का पता चल गया। उसके द्वारा कैलाश चौक की एक इमारत में कॉल सेंटर बनाया हुआ था, यहां से पुलिस ने 70 मोबाइल सिम और 11 मोबाइल फोन बरामद किए हैं।

अखबार के विज्ञापन से लेता था नंबर, बना रखी थी फर्जी वेबसाइट
ललित BA फर्स्ट ईयर का स्टूडेंट है और बेहद शातिर है। वह अखबारों में आने वाले मेट्रीमोनियल विज्ञापनों के माध्यम से उन लोगों के नंबर लेता था जो शादी करवाना चाहते थे। बाद में सेंटर से लड़की उनहें फोन करती थी और उनसे शादी संबंधी जानकारियां जुटाती थी। इसके बाद उसने पार्टनर ढूंढकर देने के लिए 10 हजार रुपए मांगे जाते थे और पैसे लेकर नंबर बंद कर दिया जाता था। यह लोग फोन पर अपना कार्यालय चंडीगढ़ बताते थे। उसने शादी रिश्ते नाम से वेबसाइट भी बना रखी थी और इसी पर रजिस्ट्रेशन का झांसा भी देता था।

खुद करता था मेट्रीमोनियल साइट पर डेट, वहीं से आया आइडिया
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि उसने मेट्रीमोनियल साइट पर अपना अकाउंट बनाया था और वहां पर वह शादी के लिए चाहवान महिलाओं के साथ चेट करता था। इसके लिए जब उससे पैसे मांगे गए तो उसके मन में आईडिया आया कि वह इससे पैसे कमा सकता है और उसने भी फर्जी वेबसाइट बना ली। मगर ग्रााहक उसने अखबारों से ही चुने। इसके माध्यम से वह अभी तक सौ के करीब लोगों से लाखों रुपए एंठ चुका है।

पूछताछ में होंगे अन्य खुलासे, साथियों की तलाश में पुलिस
मामले के जांच अधिकारी सब इंसपेक्टर जतिंदर सिंह के अनुसार इसके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। हम इस संबंधी पूरी जानकारियां जुटा रहे हैं। यह नेटवर्क बनाना इसके अकेले के बस की बात नहीं है हम इससे पूछताछ कर रहे हैं और उमीद है कि कुछ अन्य लोग भी उनके हाथ लग सकते हैं। हम इसके कॉल सेंटर से फोन करने वाली उन लड़कियों का भी पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं, क्योंकि वह भी इसके क्राइम में भागीदार हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *