संसद का मानसून सेशन: विपक्ष कह रहा- पेगासस जासूसी पर चर्चा कीजिए, मोदी सरकार का कहना- सदन में पहले आप शांति बनाइए


  • Hindi News
  • National
  • Opposition Is Saying Discuss Pegasus Espionage, Modi Government Says Make Peace In The House First

नई दिल्ली7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लोकसभा का मानसून सेशन अब तक काफी हंगामेदार रहा है। पहले हफ्ते में केवल 4 घंटे ही कामकाज हो पाया था। इस हफ्ते भी तकबरीबन वही हाल है। बुधवार को तो लोकसभा में विपक्षी सांसदों ने स्पीकर की तरफ पर्चे फेंके और खेला होबे के नारे लगाए।

विपक्ष पेगासस जासूसी, कृषि कानूनों और दूसरे मुद्दों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर है। विपक्षी नेताओं की मांग है कि सदन में पेगासस पर चर्चा की जाए। सरकार का कहना है कि वह किसी भी मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है लेकिन विपक्ष ऐसा व्यवहार कर रहा है जो लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है।

कांग्रेस सांसद माणिकराम राठौर और मनीष तिवारी ने पेगासस जासूसी मामले में चर्चा का नोटिस दिया।

10 सांसदों पर निलंबन की तलवार
न्यूज एजेंसी ANI का सूत्रों के हवाले से कहना है कि स्पीकर की तरफ पर्चे उछालने और असम्मानजनक बर्ताव करने पर लोकसभा के 10 सांसदों को सदन से निलंबित किया जा सकता है। ANI के मुताबिक सांसद गुरजीत सिंह औजला, टीएन प्रथापन, मणिकम टैगोर, रवनीत सिंह बिट्टू, हिबी ईडेन, जोति मणि सेन्नमलई, सप्तगिरि संकर उलका, वी वैथिलिंगम और ए एम आरिफ का निलंबन हो सकता है।

पहले हफ्ते में सिर्फ 4 घंटे हुआ कामकाज
मानसून सत्र के पहले हफ्ते में संसद के दोनों सदनों में विपक्षी दलों ने तीन नए केंद्रीय कृषि कानूनों और पेगासस जासूसी मामले के साथ कई दूसरे मुद्दों पर जमकर हंगामा किया। पिछले हफ्ते सिर्फ मंगलवार को राज्यसभा में चार घंटे सामान्य ढंग से कामकाज हो पाया, जब कोरोना के चलते देश में बने हालात को लेकर सभी दलों के बीच आपस में बनी सहमति के आधार पर चर्चा हुई थी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *