सफलता: पंजाब यूनिवर्सिटी के इंक्यूबेशन सेंटर के ‘रूट वर्ज’ को इंटरनेशनल कंपीटिशन में 2.5 लाख रुपए का पुरस्कार


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • ‘Root Verge’ Of Punjab University Incubation Center Awarded Rs 2.5 Lakh At International Competition

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

शुभम

  • एशिया के सबसे बड़े बिजनेस मॉडल कंपीटिशन में जीती राशि, आईआईटी बांबे और सिस्को लॉन्च पैड ने किया सम्मानित

पंजाब यूनिवर्सिटी के डिजाइन एंड इनोवेशन सेंटर के स्टार्ट अप ‘रूट वर्ज’ को आईआईटी बांबे के इंटरनेशनल बिजनेस मॉडल कंपीटिशन में 2.5 लाख रुपए का पुरस्कार मिला है। आईआईटी बांबे और सिस्को लाॅन्च पैड ने एजुकेशन सेक्टर में इनोवेशन एक्सीलेंस के एरिया में उनको सम्मानित किया है। ये एशिया का सबसे बड़ा बिजनेस मॉडल कंपीटिशन था।

स्टार्ट अप को पीयू के स्टूडेंट उत्कर्ष खंडेलवाल और सीसीईटी के शुभम नरूला ने शुरू किया है। रूट वर्ज ने हाइब्रिड लर्निंग एक्सपीरिएंस के लिए एक सिस्टम बनाया है। इससे पहले पंजाब स्टेट काउंसिल आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी और डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की ओर से भी उनको ‘टेक इनोवेशन एंड मैनेजिंग कोविड 19’ कैटेगरी में अवाॅर्ड दिया गया है।

डीआईसी के प्रो नवीन अग्रवाल की गाइडेंस में ये स्टार्ट अप काम कर रहा है। चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में उनका सिस्टम उपयोग हाे रहा है। इसमें ऑनलाइन एजुकेशन आसानी से संभव होगी। कोविड 19 के कारण सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है लेकिन स्कूलों में दबाव है कि ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों ही तरीके ऑप्शन उनको दिए जाएं।

इसी का सॉल्यूशन निकालने के लिए यूआईईटी व सीसीईटी के दो स्टूडेंट्स ने ऐसा सिस्टम तैयार किया है जिसमें लेक्चर तो टीचर अपनी क्लास में देगा लेकिन घर बैठे हुए भी स्टूडेंट्स उस लेक्चर को अपने फीचर फोन से सुन सकेगा। स्मार्ट फोन वाले स्टूडेंट को तो क्लास रूम की ऑडियो और वीडियो सर्विस किसी भी अन्य एप्लीकेशन की तरह मिलेेगी।

स्टूडेंट कहीं पर भी बैठ कर लगा सकता है क्लास
यूआईईटी के डिजाइन एंड इनोवेशन सेंटर के प्रो नवीन अग्रवाल और उनके स्टूडेंट्स उत्कर्ष खंडेलवाल और शुभम नरूला ने ये रूट वर्ज लर्निंग सिस्टम तैयार किया है। स्टूडेंट्स इस टाइम टेबल भी सुन सकते हैं। फीचर फोन और स्मार्ट फोन दाेनों से लाइव स्ट्रीमिंग हो सकेगी। लैंड लाइन या फीचर फोन से कॉल की जा सकती है।

फीचर फोन या लैंडलाइन वाले स्टूडेंट्स को एक नंबर दिया जाएगा। वह जब भी कॉल करेंगे तो उसको फोन पर क्लास सुननी शुरू हो जाएगी। स्मार्ट फोन में वीडियो भी आ आएगा। ये पूरी दुनिया में कहीं पर भी बैठ कर स्टूडेंट क्लास लगा सकता है। स्टूडेंट्स पर खर्च का बोझ घटाने के लिए टोल फ्री नंबर पर भी ये सर्विस दे सकते हैं। एक बार में दो सौ स्टूडेंट्स एक बार में पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *