सुप्रीम कोर्ट की शरण में रामदेव: एलोपैथी पर दिए विवादित बयान के खिलाफ दर्ज मामलों को योगगुरु ने चुनौती दी; अलग-अलग जगहों पर दर्ज FIR दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की


  • Hindi News
  • National
  • Baba Ramdev Allopathy Medicine Remarks | Patanjali Group Founder Ramdev Moves Supreme Court Against Multiple FIR

नई दिल्ली9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एलोपैथी के खिलाफ योगगुरु बाबा रामदेव के दिए विवादित बयान पर उनके खिलाफ देश के अलग-अलग राज्यों में केस दर्ज कराए गए थे। इसे लेकर बाबा रामदेव ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है। याचिका में उन्होंने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) पटना और रायपुर की ओर से दर्ज प्राथमिकी पर रोक लगाने की मांग की है। साथ अलग-अलग जगह दर्ज मामलों को दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग भी की है।

कहां-कहां शिकायतें दर्ज

  • पिछले महीने IMA ने दिल्ली के आईपी एस्टेट पुलिस स्टेशन में योगगुरु के खिलाफ शिकायत दी थी। इसमें रामदेव पर महामारी एक्ट, आपदा एक्ट और राजद्रोह समेत दूसरी धाराओं के तहत FIR दर्ज करने की मांग की गई थी।
  • इसके बाद छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी रामदेव के खिलाफ FIR दर्ज की गई थी। कोरोना के इलाज में दी जा रहीं एलोपैथिक दवाओं को लेकर गलत जानकारी फैलाने के आरोप में उन पर यह केस दर्ज किया गया था। IMA की छत्तीसगढ़ यूनिट ने FIR कराई थी।
  • रामदेव पर IMA ने पटना में भी केस दर्ज करवाया था। यहां के पत्रकार नगर थाने में रामदेव पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 और एपेडेमिक डिजीज एक्ट के तहत FIR दर्ज कराई गई थी। वहीं, IMA उत्तराखंड ने रामदेव पर 1000 करोड़ रुपए का मानहानि का केस दर्ज कराया था।

क्या है मामला?
दसरअसर, विवाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे बाबा रामदेव के उस वीडियो पर हुआ, जिसमें बाबा एलोपैथी को बकवास और दिवालिया साइंस कह रहे हैं। इसमें रामदेव ये दावा करते दिख रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद भी 10,000 डॉक्टर और लाखों लोग मारे गए हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *