सौगात: पांच अरब 47 करोड़ का बजट पारित, शहर के घाट, ट्रैफिक पोस्ट, बस स्टैंड व चौक-चौराहों के सौंदर्यीकरण का लक्ष्य


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Budget Of 5 Billion 47 Crores Passed, Target Of Beautification Of City Ghats, Traffic Posts, Bus Stands And Square intersections

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गया2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • संशोधन के बाद नगर निगम की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बिना हानि-लाभ वाला बजट पारित

कोरोनाकाल में बिगड़े वित्तीय हालातों के बीच गया नगर निगम स्टैंडिग कमेटी की बैठक में सोमवार को वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट संशोधन के बाद सदन ने मंजूरी दे दी है। शहर के बुनियादी विकास और नागरिक सुविधाओं के मद्देनजर 5 अरब 47 करोड़ 17 लाख 55 हजार रुपए का बजट पारित किया गया। इतने ही रुपए का व्यय का भी बजट निगम ने रखा है। यानि बिना हानि-लाभ वाला बजट सदन में पारित हुआ। 13 फरवरी को होने वाले बोर्ड की बैठक में बजट पर मुहर लगेगी।

पिछले बार निगम का कुल बजट 5 अरब 32 करोड़ 70 लाख रुपए का था। पिछले साल से इस बार 15 करोड़ रुपए अधिक का बजट पारित किया गया है। बैठक की अध्यक्षता मेयर वीरेन्द्र कुमार उर्फ गणेश पासवान व संचालन नगर आयुक्त सावन कुमार ने की।

कार्यवाही शुरू होते ही बजट में त्रुटियों को लेकर मेयर एवं डिप्टी मेयर ने कई संशोधन कराया। उसके बाद देर शाम बजट पारित की गई। वहीं डिप्टी मेयर अखौरी ओंकारनाथ उर्फ मोहन श्रीवास्तव ने पत्रकारों को बताया कि निगम का वित्तीय वर्ष 2020-21 का वास्तविक आय एवं व्यय तथा वित्तीय वर्ष 2021-22 का प्रस्तावित बजट तैयार किया गया है। इस बार बिना हानि-लाभ का बजट पारित किया गया। साथ ही नागरिक सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया गया है।

इन योजनाओं पर किया जाएगा खर्च
शहर के बुनियादी विकास और नागरिक सुविधाओं के मद्देनजर इस बार निगम शहर के बड़े पथों का निर्माण, कचरा के कम्पोस्टिंग से खाद्य का निर्माण, जीबी रोड का चौड़ीकरण व कालीकरण, स्ट्रीट लाईटिंग, केपी रोड का चौड़ीकरण, राजेन्द्र टावर का जीर्णोद्धार, 125 स्थानों पर टायलेट का निर्माण और ट्रैफिक सिग्नल सहित अन्य दर्जनों नागरिक सुविधाओं पर अरबों रुपए खर्च करने की योजना बनाई गई है। बैठक में स्टैंडिंग कमेटी सदस्य पार्षद मनोज कुमार, अबरार अहमद, उषा देवी, चुन्नू खां, स्वर्णलता वर्मा सहित पदाधिकारी एवं संबंधित निगमकर्मी उपस्थित थे।

गया शहर को स्वच्छ शहर की सूची में नंबर-वन बनाने पर दिया जोर
इस बार गया शहर को स्वच्छ शहर की सूची में नंबर वन पर लाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 का प्रारम्भिक शेष 1 अरब 46 करोड़ 96 लाख 56 हजार 8 सौ 2 रुपए एवं स्वीकृत बजट से नौ माह (माह अप्रैल 2020 से दिसम्बर 2020) का वास्तविक पूंजीगत आय के रूप में राशि 65 करोड़ 88 लाख 98 हजार 2 सौ 69 रुपए है। राजस्व प्राप्ति 17 करोड़ 73 लाख 56 हजार 9 सौ 8 रुपए है।

इस प्रकार कुल प्रारम्भिक शेष, पुंजीगत आय और राजस्व प्राप्ति 2 अरब 30 करोड़ 59 लाख 11 हजार 9 सौ 79 रुपए है। वहीं वित्तीय वर्ष 2020-21 के स्वीकृत बजट से नौ माह (अप्रैल 2020 से दिसम्बर 2020) का वास्तविक पूँजीगत व्यय के रुप में राशि 45 करोड़ 66 लाख 65 हजार 81 रुपए और राजस्व व्यय 46 करोड़ 30 लाख 69 हजार 7 सौ 43 रुपए है।

इस प्रकार कुल पुंजीगत व्यय और राजस्व व्यय 91 करोड़ 97 लाख 34 हजार 8सौ 24 रुपए का है। जबकि वित्तीय वर्ष 2020-21 का माह दिसम्बर 2020 का अंतिम शेष 1 अरब 38 करोड़ 61 लाख 77 हजार 1 सौ 55 रुपए है। साथ ही प्रस्तावित बजट 2021-22 का अनुमानित पुंजीगत प्राप्ति राशि 4 अरब 30 करोड़ 20 लाख एवं अनुमानित राजस्व प्राप्ति 1 अरब 16 करोड़ 97 लाख 55 हजार रुपए का है।

जबकि प्रस्तावित पुंजीगत प्राप्ति और राजस्व प्राप्ति 5 अरब 47 करोड़ 17 लाख 55 हजार रुपए का है और इसी पर बजट पारित कर दिया गया। उन्होंने बताया कि पिछले साल के तुलना में इस वर्ष 15 करोड़ रुपए का अधिक बजट पेश किया गया है। उक्त वर्ष का बजट बिना हानि-लाभ वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *