हिमाचल में 104% वैक्सीनेशन: बाहरी राज्यों से आ रहे लोगों को भी डोज देकर हासिल किया टारगेट से अधिक अचीवमेंट, अब तक 2 लाख ज्यादा गैर हिमाचली लोगों को लगाई वैक्सीन


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • 2 Lakh More People Got Vaccine In Himachal, 104% Reached Vaccination Target, People Reaching From Outside States Are Also Getting Vaccine

शिमला31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल में 104 फीसदी हुआ वैक्सीन। -फाइल फोटो

हिमाचल के पास अभी तक वैक्सीन की 13 लाख डोज पड़ी हुई है। ऐसे में आने वाले लंबे समय तक लोगों को वैक्सीनेशन की कमी राज्य में नहीं होगी। टीकाकरण में पहला स्थान हासिल करने वाले हिमाचल ने अब तक 104 फीसदी तक लक्ष्य को हासिल कर लिया है। हालांकि इसमें बाहर से आने वाले लोगों का आंकड़ा भी है इसलिए टारगेट बढ़ गया। परंतु एक बड़ी उपलब्धि प्रदेश के नाम दर्ज हो चुकी है। अभी भी कुछ ऐसे लोग है, जो वैक्सीन से दूर हैं जिनको सामने लाकर उनका वैक्सीनेशन करवाया जाना जरूरी है। इसलिए ऐसे लोगों को जागरूक करने के लिए अब राज्य में विशेष अभियान चलाया जाएगा।

अर्थ और सांख्यिकी विभाग का अनुमान था कि हिमाचल प्रदेश में 18 वर्ष या इससे अधिक आयु के 53 लाख 77 हज़ार 820 लोग हैं जिन्हें वैक्सीन लगानी होगी। हिमाचल प्रदेश में न सिर्फ रिकॉर्ड समय में इस लक्ष्य को पूरा किया गया, बल्कि इससे बढ़कर, अब तक 55,78,348 लोगों को पहली डोज लगाई जा चुकी है। लक्ष्य से दो लाख अधिक अधिक वैक्सीनेशन के मुख्य कारणों में प्रदेश में बाहरी राज्यों से 18 साल से अधिक उम्र के सैलानियों का आना और प्रवासियों की संख्या में बढ़ोतरी भी है।

18 साल आयु पूरी करने वाले युवाओं को लग रही वैक्सीन

सभी पात्रों को वैक्सीन की पहली डोज लगाना सामान्य उपलब्धि नहीं है। खासकर तब जब अधिकतर युवा आबादी वाले हिमाचल प्रदेश में हर रोज हज़ारों किशोर 18 वर्ष की आयू पूरी करते हैं। इस तरह से देखें तो टीकाकरण अभियान शुरू होने के समय दिए गए व्यस्कों के प्रारंभिक आंकड़े में ही अब तक हजारों नए व्यस्क जुड़ चुके हैं। उन्हें भी वैक्सीन मिल पाना राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग के कुशल प्रबंधन का एक उदाहरण है।

हिमाचल में बाहरी राज्यों से भी पहुंच रहे लोगों को लग रही वैक्सीन।

हिमाचल में बाहरी राज्यों से भी पहुंच रहे लोगों को लग रही वैक्सीन।

पड़ोसी राज्यों में टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीन स्लॉट उपलब्ध नहीं

आज भी पड़ोसी राज्यों के कई टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीन स्लॉट उपलब्ध नहीं हैं जबकि हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य कर्मियों के सही प्रबंधन से पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध है। यहां पर 13 लाख डोज वर्तमान में मौजूद है। हिमाचल घूमने आने वाले कई पर्यटक यहां की वादियों से मधुर स्मृतियों के साथ-साथ कोरोना महामारी के प्रति कवच, वैक्सीन भी लेकर लौट रहे हैं। इन लोगों को भी यहां पर आसानी से वैक्सीन लगाई जा रही है।

दिहाड़ीदार श्रमिकों के लिए देररात तक टीकाकरण

हिमाचल प्रदेश इस मामले में भी आदर्श साबित हुआ कि राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के दौरान किसी के साथ भेदभाव नहीं किया गया। हिमाचल प्रदेश के सुदूर इलाकों में रहने वाले लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए तो इंतजाम किए ही गए। औद्योगिक क्षेत्रों में रहने वाले प्रवासियों तक के लिए विशेष व्यवस्था की गई। दिहाड़ी पर जाने वाले श्रमिकों के लिए देर रात तक टीकाकरण अभियान चलाया गया। प्रदेश में 18 साल से ऊपर के पात्र व्यक्तियों को पहली डोज के साथ वैक्सीनेट कर दिया गया है और अब सभी को दूसरी डोज लगाई जा रही है। प्रदेश सरकार का कहना है कि जल्द ही वह सभी वयस्कों को दोनों डोज़ देकर संपूर्ण वैक्सीनेशन का लक्ष्य भी हासिल कर लेगी जिसके लिए जनता का सहयोग जरूरी होगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *