होम्योपैथिक कॉलेज में घोटाला: पूर्व तीन कर्मचारियों पर धोखाधड़ी की FIR, 2.68 लाख रुपए बिना बताए कॉलेज के अकाउंट से निकाले


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • FIR For Fraud On Three Former Employees, Withdraws 2.68 Lakh Rupees From College Account Without Informing

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्वालियर16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

वसुंधरा राजे होम्योपैथिक चिकित्सा महाविद्यालय के तीन पूर्व कर्मचारियों पर हुआ है धोखाधड़ी कामामला दर्ज

  • वसुंधरा राजे होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज का मामला
  • कंपू थाना में शिकायत के बाद हुआ मामला दर्ज

कोई पद पर न होते हुए भी तीन पूर्व पदाधिकारियों ने कॉलेज के अकाउंट से 2.68 लाख रुपए निकाल लिए हैं। इस राशि को निकालने के लिए न तो समिति को विश्वास में लिया गया है न ही अध्यक्ष के हस्ताक्षर कराए गए। साथ ही इन पैसों का क्या किया कुछ पता नहीं है। घटना बीते वर्ष वसुंधरा राजे होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज की है। कंपू थाना पुलिस ने शिकायत पर जांच के बाद ठगी का मामला दर्ज किया है।

कंपू थाना क्षेत्र स्थित वसुधरा राजे हॉम्योपैथिक चिकित्सा महाविद्यालय चिरवाई नाका में डॉ. पप्पू पुत्र किशन लाल पिप्पल शिक्षक है। वह कॉलेज की प्रबंधन समिति में सदस्य भी हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने कंपू थाने में शिकायत की थी। जिसमें आरोप था कि कॉलेज के पूर्व पदाधिकारियों वीरेन्द्र त्रिपाठी, डॉ. रणवीर सिंह और अखिलेश कुशवाह ने कॉलेज के अकाउंट में जमा सरकारी रुपए 2 लाख 68 हजार रुपए निकालकर खुर्दबुर्द किए हैं। मामले का पता चलते ही पुलिस ने जांच की तो शिकायत की पुष्टि हुई। इसके बाद कंपू थाना पुलिस ने तीनों पूर्व कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पदाधिकारी और प्राचार्य के साइन भी किए फर्जी

पुलिस जांच में पता चला है कि वीरेन्द्र त्रिपाठी, डॉ. रणवीर सिंह और अखिलेश कुशवाह को काफी समय पहले ही समिति से हटा दिया गया था। उनके स्थान पर नई समिति गठित की गई थी। इसके बाद उन्होंने बीते वर्ष जून से अगस्त के बीच चेक के माध्यम से यह रकम अन्य खातों में ट्रांसफर की है, जबकि कॉलेज का पैसा शासकीय पैसा है। शासकीय पैसा को खर्च करने के लिए समिति के अन्य पदाधिकारियों के साथ ही प्रार्चाय के हस्ताक्षर होते हैं। इन साइन को ही सभी की सहमति माना जाता है। पर इन्होंने वह साइन भी फर्जी किए। इस पर सीएसपी पड़ाव नागेन्द्र सिंह का कहना है कि शिकायत पर मामला दर्ज किया है अब विस्तार से जांच कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *