38 पत्नियों के पति का अंतिम संस्कार रुका: परिवार का दावा- जिंदा हैं जिओना चाना, उनका शरीर अब तक गर्म है और सांसें भी चल रहीं


  • Hindi News
  • National
  • Mizoram Ziona Chana Funeral Hold; Family Members Believe Ziona Chan Is Still Alive

आइजोलएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चाना पावल संप्रदाय के नेता हैं, उनके पिता ने इस संप्रदाय का गठन किया था।

दुनिया के सबसे बड़े परिवार (167 लोग) के मुखिया मिजोरम के जिओना चाना का परिवार उनकी मौत पर विश्वास करने को तैयार नहीं है। परिवार का मानना है कि चाना अभी जिंदा हैं और उनकी सांसें भी चल रही हैं। इस घटना के बाद चाना का अंतिम संस्कार रोक दिया गया है।

चाना पावल संप्रदाय के नेता हैं। उनके पिता ने इस संप्रदाय का गठन किया था। संप्रदाय में 433 परिवार और 2,500 से ज्यादा लोग शामिल हैं। संप्रदाय के लोगों का कहना है कि जब तक मौत कंफर्म नहीं हो जाती, अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।

चाना के 89 बच्चे
मिजोरम की राजधानी एजवाल के त्रिनिटी अस्पताल के डॉक्टर्स ने 13 जून को चाना के निधन को कंफर्म किया था। वे 76 साल के थे। पेशे से बढ़ई चाना की 38 पत्नियां और 89 बच्चे हैं। मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने भी चाना के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखी थी। उन्होंने लिखा था कि मिजोरम और उनका गांव बकटावंग तलंगनुम इस परिवार के कारण टूरिस्ट अट्रैक्शन बन गया था।

मिजोरम में अपने 4 मंजिला मकान के सामने जिओना चाना का परिवार।

मिजोरम में अपने 4 मंजिला मकान के सामने जिओना चाना का परिवार।

मकान में 100 से ज्यादा कमरे
इस परिवार के बारे में बताया जाता है कि चाना की सबसे बड़ी पत्नी घर से सभी सदस्यों के काम का बंटवारा करती हैं। वह सभी के काम पर नजर भी रखती हैं। 167 लोगों का यह परिवार पहाड़ियों के बीच बने बड़े से 4 मंजिला मकान में रहता है। घर का नाम छौन थर रन (न्यू जेनरेशन होम) है। इस मकान में 100 से ज्यादा कमरे हैं।

ऐसा है परिवार का जीवन
चाना का जन्म 21 जुलाई 1945 को हुआ था। वह चाना पावल नाम के समुदाय के प्रमुख थे। इसे उनके पिता ने स्थापित किया था। इस संप्रदाय में कई शादियों की परंपरा है। चाना की इतनी पत्नियों की यही वजह है। इस परिवार का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल है।

एक दिन में खाते थे 45 किलो चावल
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस परिवार को एक दिन के राशन में 45 किलो चावल, 25 किलो दाल, 20 किलो फल, 30 से 40 मुर्गे और 50 अंडों की जरूरत पड़ती है। चाना के परिवार के लिए एक बड़े डाइनिंग हॉल में 50 टेबलों पर खाना परोसा जाता है। चाना की पत्नियां खाना बनाती हैं। बेटियां घर के दूसरे काम देखती हैं। साफ-सफाई की जिम्मेदारी बहुएं संभालती हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *