AIIMS डायरेक्टर की चेतावनी: डॉ. गुलेरिया बोले- अगले 6 से 8 हफ्तों के बीच आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर


  • Hindi News
  • National
  • Third Wave In 6 8 Weeks । Covid appropriate Behaviour । AIIMS Chief Doctor Randeep Guleria, VIRUS AIIMS GULERIA THIRD WAVE

नई दिल्ली7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डॉक्टर गुलेरिया ने तेजी से वैक्सीनेशन पर जोर दिया है। उनका कहना है कि इससे कोरोना के मामले तेजी से कम होंगे।

कोरोना की तीसरी लहर पर भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी जारी की है। उन्होंने कहा है कि यदि कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं किया गया और बाजारों या टूरिस्ट स्पॉट पर लगने वाली भीड़ को नहीं रोका गया तो कोरोना की तीसरी लहर सिर्फ 6 से 8 हफ्तों में पूरे देश पर अटैक कर सकती है।

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अभी तक की रिसर्च में ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं कि कोरोना की तीसरी लहर बड़ों से ज्यादा बच्चों को प्रभावित करेगी। इससे पहले भारत के महामारी विशेषज्ञों ने पहले सितंबर-अक्टूबर तक कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना व्यक्त की थी।

देश में अप्रैल और मई महीने के बीच कोरोना की दूसरी लहर भारत में पीक पर पहुंची थी। इस बीच देशभर में कोरोना से मौतों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। अधिकतर राज्यों में इस बीच ऑक्सीजन की शॉर्टेज भी देखी गई थी। इसके बाद पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केस घटने शुरू हो गए हैं।

तीसरी लहर रोकने के 4 उपाय
1.
भारत की ज्यादा से ज्यादा आबादी का वैक्सीनेशन करना होगा।
2. लोगों को कोविड गाइडलाइंस का पालन करना होगा।
3. ऐसे इलाकों की मॉनिटरिंग करनी होगी, जहां कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं।
4. जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज 5% से ज्यादा है, वहां कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करें।

महाराष्ट्र में 2 से 3 हफ्ते के अंदर तीसरी लहर का अंदेशा
महाराष्ट्र में 1-2 महीने के अंदर कोरोना की तीसरी आने की संभावना है। यह लहर कोरोना के बेहद खतरनाक वैरिएंट डेल्टा प्लस (AY.1) की वजह से आएगी। राज्य की कोविड टास्क फोर्स ने बुधवार को इस महामारी की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी थी। इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मेडिकल टीम और अन्य अफसरों को जरूरी इंतजाम चाक-चौबंद करने का निर्देश दिया था।

बड़े पैमाने पर सीरो सर्वे करवाने का निर्देश दिया
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने डॉक्टर्स से बड़े स्तर पर सीरो सर्व कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इससे लोगों में कोविड एंटीबॉडीज का स्तर और टीकाकरण की जानकारी मिल सकेगी। CM ने पिछली लहरों से सीख लेने की बात पर जोर दिया।

ठाकरे ने कहा कि पहली लहर में राज्य में पर्याप्त सुविधाएं नहीं थी, लेकिन बाद में सुविधाएं जुटाने पर हालात बेहतर हुए थे। दूसरी लहर ने हमें बहुत सिखाया। अब हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि दवा, बिस्तर और ऑक्सीजन की कमी न हो। CM ने बताया कि राज्य को अगस्त-सितंबर के आसपास वैक्सीन के 42 करोड़ डोज मिलने की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *