CM ने दिखाए तेवर: निवाड़ी SP वाहिनी से कहा- आपके पार्टनर सरकारी काम में इंटरफियर करते हैं, IPS पति नागेंद्र पर रेत माफिया काे संरक्षण देने के लगे थे आरोप


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Niwari SP Told Vahini Singh Your Life Partner Interferes In Government Work, IPS Husband Nagendra Singh Has Been Accused Of Colluding With Sand Mafia While Being Bhind SP.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में कुछ मैदानी अफसरों की कार्यप्रणाली को नाराजगी व्यक्त की। सीएम के निर्देश पर दो कलेक्टर, दो जिलों के एसपी को हटाया गया है।

  • कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में सीएम बोले- कौन, क्या कर रहा, मेरे पास सबकी जानकारी
  • एसपी निवाड़ी वाहिनी सिंह और गुना राजेश सिंह को पीएचक्यू भोपाल में एआईजी बनाया

सोमवार को हुई कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के मैदानी अफसरों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कड़े तेवर देखने को मिले। कॉन्फ्रेंस खत्म होने के तत्काल बाद मुख्यमंत्री ने दो कलेक्टर, दो एसपी और एक राज्य पुलिस सेवा की अफसर को हटाने के निर्देश दे दिए। सीएम के निर्देश मिलने के एक घंटे बाद ही उन्हें हटाए जाने के आदेश जारी कर दिए गए।

आदेशानुसार कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह और नीमच जितेंद्र सिंह को मंत्रालय में उप सचिव में पदस्थ किया गया है जबकि एसपी निवाड़ी वाहिनी सिंह व गुना राजेश सिंह को पीएचक्यू भोपाल में एआईजी बनाया गया है। इसी तरह गुना सीएसपी नेहा पच्चीसिया को पुलिस मुख्यालय में डीएसपी पदस्थ किया गया है। मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री कॉन्फ्रेंस शुरू होने से पहले ही एक लिस्ट रखकर बैठे थे।

सीएम ने पहले से ले रखा था प्रशासनिक कार्यप्रणाली का फीडबैक

दरअसल, मुख्यमंत्री ने सभी जिलों में प्रशासनिक कार्यप्रणाली का फीडबैक ले रखा था। उन्होंने निवाड़ी एसपी वाहिनी सिंह से कहा- आपके लाइफ पार्टनर आपके (सरकारी) काम में इंटरफियर करते हैं। वाहिनी सिंह के पति नागेंद्र सिंह भी आईपीएस अफसर हैं।

जब वे भिंड में एसपी थे, तब उन पर रेत माफिया के साथ सांठगांठ करने के आरोप लगे थे। उनका एक ऑडियो भी वायरल हुआ था। इसके बाद सरकार ने उन्हें हटा दिया था। वर्तमान में नागेंद्र सिंह बालाघाट में हॉक फोर्स में कमांडेंट हैं। इस बारे में जब वाहिनी सिंह से पक्ष जानने के लिए संपर्क किया गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

धर्मगुरु पर केस, इसलिए हटाए गए गुना एसपी !

गुना एसपी राजेश सिंह को हटाए जाने की वजह बताई जा रही है कि पिछले दिनों एक धर्मगुरु के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। जिससे मुख्यमंत्री नाराज थे। इसलिए ही सीएसपी नेहा पच्चीसिया को भी हटाया गया है। हालांकि पीएचक्यू सूत्रों का कहना है कि एक सिपाही के बागी होकर राइफल सहित भागने के मामले में हटाया गया है। सरकार का मानना है कि एसपी की अपने अधीनस्थों पर नियंत्रण नहीं था।

सीएम बोले- मेरे पास सबकी खबर है

बैठक में कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह व नीमच जितेंद्र सिंह को लेकर मुख्यमंत्री ने कुछ नहीं कहा था, लेकिन उन्होंने होशंगाबाद, नीमच, धार, मंदसोर, गुना, सीहोर और बैतूल कलेक्टर की कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी जरूर जाहिर की थी। मुख्यमंत्री ने यहां तक कह दिया कि मेरे पास सबकी खबर है। कौंन, क्या कर रहा है। मुख्यमंत्री ने बैठक में आगाह भी किया कि कई अफसरों की जनता के बीच में छवि ठीक नहीं है।

जो अफसर अच्छा काम करेंगे थपथपाई जाएगी उनकी पीठ

बैठक के शुुरुआत में ही मुख्यमंत्री ने कह दिया था कि जो अफसर अच्छा काम करेंगे, उसकी पीठ थपथपाई जाएगी और जो अच्छा काम नहीं करेंगे, उन्हें परिणाम भुगतने होंगे। दरअसल, मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों को मिलावट खोरी,अवैध निर्माण, रेत माफिया के खिलाफ अभियान चलाने के निर्देश दिए थे। इन अभियान को लेकर जिले वार रेटिंग की गई है।

बैठक में बताया कि गया कि कौन से जिलों ने बेहतर काम किया और किन जिलों का परफार्मेंस ठीक नहीं रहा। बता दें कि इससे पहले हुई दो कॉन्फ्रेंस में कटनी कलेक्टर, नीमच व कटनी एसपी और नगर निगम कमिश्नर ग्वालियर को हटाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *