MP के 3 शहरों में आज टोटल लॉकडाउन: भोपाल, इंदौर और जबलपुर में मेडिकल सेवाओं को छोड़ बाजार और पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद; पुलिस ने सख्ती शुरू की


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Market And Public Transport Closed Except Medical Services In Bhopal, Indore And Jabalpur; If The Movement Did Not Stop, The Police Started Strict

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल/इंदौर/ जबलपुर17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इंदौर में जब सड़कों पर आवाजाही नहीं रुकी तो पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी।

कोरोना की दूसरी लहर के बीच भोपाल, इंदौर और जबलपुर में पहला लाॅकडाउन शुरू हो गया है। रविवार को अस्पताल और मेडिकल छोड़कर सभी दुकानें बंद रहीं। सुबह सिर्फ दूध सप्लाई की छूट दी गई थी। पुलिस सड़कों पर तैनात रही। जगह-जगह बैरिकेड्स भी लगाए। सुबह 9 बजे तक लोगों की आवाजाही सड़कों पर नहीं रुकी तो पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी। पूछताछ के बाद जिन्हें छूट दी गई थी उन्हें जाने दिया गया। एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन जाने वालों को दो गुना किराया देना पड़ा।

भोपाल: दुकानें बंद, सड़कों पर निकलते रहे लोग
शहर में एक तरह से लॉकडाउन शनिवार रात 10 बजे से शुरू हो गया था। रविवार सुबह से अस्पताल और मेडिकल दुकानें छोड़कर सभी दुकानें बंद रहीं। लॉकडाउन के दौरान धारा 188 लागू की गई है। यानी बिना कारण घर से निकलने पर गिरफ्तारी के आदेश थे, लेकिन सुबह 9 बजे से पहले तक सड़कों पर लोग आते-जाते रहे। पुलिस बैरिकेड्स लगाकर साइड में खड़ी रही। बाद में सख्ती थोड़ी शुरू की। भोपाल में पिछले 24 घंटे में संक्रमितों का आंकड़ा 400 के पार हो गया है। ऐसे में प्रशासन ने लॉकडाउन के दौरान ज्यादा सख्ती बरतने की बात कही थी। यदि दुकानदार ने नियमों को उल्लघंन किया, तो 5 हजार रुपए फाइन देना होगा। इसके बाद भी नहीं माने तो दूसरी और तीसरी बार में 2 गुना यानी 10 हजार रुपए जुर्माना वसूला जाएगा। अगर फिर भी दुकानदार नहीं माने तो दुकानों को सील करने की कार्रवाई की जाएगी।

इंदौर: किसी भी दुकान का शटर नहीं उठा
रविवार की सुबह दूध वाले की आवाज तो आई, लेकिन सब्जी के ठेले गायब दिखे। सुबह चाय-नाश्ते के स्टॉल भी नहीं लगे। लॉकडाउन को लेकर पुलिस ने शनिवार रात 10 बजे से ही मोर्चा संभाल लिया था। हालांकि सुबह के समय सड़कों पर आवाजाही बनी रही। इसके बाद पुलिस ने सुबह 9.30 बजे के बाद सड़कों को बैरिकेड्स लगाकर बंद कर दिया और आने जाने वालों से पूछताछ शुरू कर दी। सायरन बचाती हुई पुलिस की गाड़ियां सड़कों पर अनाउंस करती रहीं।

जबलपुर: 1500 जवान तैनात, MPPSC की परीक्षा के लिए चलाईं बसें
शहर में अस्पताल और मेडिकल को छोड़कर सभी बाजार और दुकानें बंद हैं। 34 पॉइंट पर चेकिंग जारी है। 1500 जवानों की तैनाती की गई है। हालांकि यहां भी आवाजाही पर पूरी तरह से रोक नहीं लग पाई है। PSC अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर छह पर सुबह सात से नौ बजे तक के बीच विभिन्न केंद्रों के लिए बसें उपलब्ध कराई गईं। अभ्यर्थियों की वापसी में भी बसों की सुविधा परीक्षा केंद्राें से स्टेशन व ISBT के लिए उपलब्ध रहेगी। जेसीटीएसएल ने कॉल सेंटर नंबर 8085922322 जारी किया है। अभ्यर्थी इस पर कॉल कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। PSC की परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक आयोजित की जाएगी।

सिर्फ इनको मिली है लॉकडाउन में छूट

दवा की दुकान और अस्पताल। आवश्यक वस्तुओं के थोक परिवहन, औद्योगिक इकाइयों और उनके श्रमिकों व कर्मियों, औद्योगिक कच्चे माल और उत्पाद के परिवहन, बीमार व्यक्तियों के परिवहन, बाहर से आने वाले ट्रक, डंपरों को, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड से आने-जाने की छूट रहेगी। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को छूट रहेगी कि वे अपनी फोटो पहचान पत्र व टिकट दिखाकर आवाजाही कर सकेंगे।

इन गतिविधियों पर टोटल लॉकडाउन
सभी निजी व शासकीय संस्थाएं। दुकान, होटल, प्रतिष्ठान, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, सिटी बस, ऑटो, टैक्सी, खुदरा व थोक दुकानें, मार्केट, क्लब, बगीचे, रेस्टाेरेंट, खानपान की दुकानें, मंडियां, शराब दुकानें, किराना दुकानें, सब्जी दुकानें बंद।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *