MP में अब 7 शहरों में संडे लॉक: 7 दिन में दोगुनी हुई संक्रमण की रफ्तार; भोपाल-इंदौर के साथ बैतूल, छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगोन में भी रविवार को लॉकडाउन



  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore Bhopal (Madhya Pradesh) Coronavirus Lockdown Cases Update | Madhya Pradesh Corona Cases District Wise Today News; Indore Bhopal Jabalpur

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल2 मिनट पहलेलेखक: विष्णु शर्मा

  • मध्य प्रदेश में पिछले 7 दिन में एक्टिव मरीजों की संख्या 10 हजार के पार हुई
  • भोपाल में कोरोना पर हाईलेवल मीटिंग के बाद CM शिवराज ने लिया फैसला

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार 7 दिन में दोगुनी हो गई है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1712 नए संक्रमित मिले हैं। इसको देखते हुए सरकार ने आने वाले रविवार से बैतूल, छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगोन में संडे को लॉकडाउन का फैसला किया है। इंदौर, भोपाल और जबलपुर में पिछले रविवार से ही इसे लागू किया जा चुका है। अब 28 मार्च को प्रदेश के 7 शहरों में लॉकडाउन रहेगा। शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन माना जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार सुबह कोरोना पर समीक्षा बैठक की थी। इसके बाद शाम को हुई हाईलेवल मीटिंग में यह फैसला लिया गया।

मध्य प्रदेश के खरगोन और बैतूल जैसे छोटे जिलों में 50 के ऊपर केस मिले हैं। वहीं, राजधानी भोपाल और जबलपुर में कोरोना केस एक सप्ताह में 100% से ज्यादा बढ़ चुके हैं। चिंता की बात यह भी है कि अब एक्टिव केस 10 हजार के पार पहुंच गए हैं। बिगड़ते हालात को देखते हुए CM शिवराज सिंह चौहान ने ज्यादा शहरों में लॉकडाउन के संकेत दिए थे। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से कोरोना केस लगातार बढ़ रहे हैं, इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है। ऐसे में संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सख्त कदम उठाने पड़ेंगे।’

सबसे ज्यादा केस इंदौर में, भोपाल दूसरे नंबर पर
स्वास्थ्य विभाग के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, इंदौर में 477 नए संक्रमित मिले हैं, जो प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं। इससे पहले, पिछले साल 9 दिसंबर में 495 केस सामने आए थे। इसी तरह, भोपाल में 385 पॉजिटिव मिले हैं। यह 4 महीने 3 दिन बाद एक दिन में मिले मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 20 नवंबर को भोपाल में 378 केस मिले थे। जबलपुर में भी कोरोना की रफ्तार बढ़ती जा रही है। यहां एक दिन में 143 नए संक्रमित मिले हैं।

इंदौर में फिर से काेरोना विस्फोट:96 दिन बाद आंकड़ा 400 के पार, नए संक्रमित 477, दो की मौत

खरगोन, बैतूल जैसे छोटे शहरों में तेजी से फैल रहा संक्रमण
भोपाल, इंदौर और जबलपुर के बाद अब छोटे शहरों में भी कोरोना संक्रमण तेजी से फैलना शुरू हो गया है। खरगोन और बैतूल में महाराष्ट्र से आवागमन ज्यादा होता है। यही वजह है कि दोनों शहरों में पॉजिटिव केस की संख्या बढ़ना शुरू हो गई है। पिछले 24 घंटे में खरगोन में 63 और बैतूल में 55 नए संक्रमित मिले हैं।

जहां संक्रमण ज्यादा, वहां सख्ती भी ज्यादा होगी
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, जिन इलाकों में ज्यादा संक्रमण फैल रहा है, वहां ज्यादा सख्ती बरती जाएगी। फिलहाल माइक्रो कंटेटमेंट बनाए जा रहे हैं, यानी जिस घर में संक्रमित पाया जाता है, उस घर को कंटेनमेंट घोषित किया जा रहा है, लेकिन जिस तरह से केस बढ़ते जा रहा हैं, सरकार फिर से कंटेनमेंट जोन बनाने की तैयारी कर रही है।

कक्षा 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से खुलने की संभावना नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन गंभीरता से करने की जरूरी है। मंत्रालय सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं और संक्रमण की चेन बन रही है, इसको तोड़ने के लिए लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत मुख्यमंत्री दे रहे हैं। अभी तक प्रदेश के 3 शहरों भोपाल, इंदौर और जबलपुर में हर रविवार को लॉकडाउन का फैसला लिया गया है, लेकिन होली समेत दूसरे त्योहारों को ध्यान में रखते हुए सरकार आगे फैसला लेगी। इस बीच, 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से खुलने की कोई संभावना नहीं है।

बनने लगी संक्रमण की चेन, 1 से 3 लोगों में फैल रही महामारी
प्रदेश में एक व्यक्ति से 3 लोगों में कोरोना संक्रमण फैल रहा है। प्रशासन ने पिछले 2 महीने में चेन तोड़ने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वालों को ट्रेस नहीं किया जा रहा है। टेस्ट रिपोर्ट आने में भी 3 से 4 दिन लग रहे हैं।

दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक, कोरोना गाइडलाइन के सख्ती से पालन पर जोर
कोराेना की दूसरी लहर में संक्रमण तेजी से फैल रहा है, इसे ध्यान में रखते हुए केंद्र ने राज्य सरकार को काेविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने को कहा है। गृह मंत्रालय ने नए निर्देशों में कहा है कि मरीज की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के तत्काल बाद उसे इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को तुरंत आइसोलेशन में भेजा जाए। इसके अलावा टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *