MP में वैक्सीनेशन के नाम पर ठगी: कॉन्स्टेबल के मोबाइल पर दूसरी डोज लगाने का मैसेज आया, लिंक पर जानकारी भरते ही खाते से 3 लाख रुपए उड़े


  • Hindi News
  • Mp
  • Local
  • Rewa
  • The Message Of Getting The Second Dose Of Vaccine Came On The Policeman’s Mobile, As Soon As He Clicked On The Link, 3 Lakhs Of Rupees Were Flown

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रीवा6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इस ठगी के बाद भोपाल पुलिस हेडक्वार्टर ने एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन के नाम पर अगर कोई अनजान व्यक्ति संपर्क करता है तो उसके खाते में पैसा ट्रांसफर न करें। -सिम्बॉलिक इमेज

इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय बेहद सतर्क रहें। ईमेल या मैसेज पर अनजान लिंक को क्लिक न करें। इससे आपके मोबाइल या बैंक खाते में सेंध लगाई जा सकती है। मध्यप्रदेश में रीवा में पदस्थ स्टेट आर्म्ड फोर्स (SAF) के एक कॉन्स्टेबल के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। ठगों ने उन्हें कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने के लिए एक लिंक भेजा। क्लिक करने पर कुछ जानकारी मांगी गई, जिसे भरते ही उनके खाते से तीन लाख रुपए कट गए।

ठगी का शिकार हुए शत्रुघ्न पटेल शिकायत लेकर बैंक पहुंचे, लेकिन हड़ताल के चलते उनकी सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद उन्होंने रीवा की साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल, ठगों के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है।

इस घटना के बाद बुधवार शाम भोपाल पुलिस हेडक्वार्टर ने एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है, ‘कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन या अन्य किसी कारण से अगर कोई अनजान व्यक्ति संपर्क करता है तो उसके खाते में पैसा ट्रांसफर न करें, उसकी भेजी किसी लिंक पर क्लिक न करें और न ही कोई एप्लीकेशन अपने मोबाइल में डाउनलोड करें, वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए सीधे नजदीकी स्वस्थ केंद्र में संपर्क करें।

एडवाइजरी में शामिल बातें, जिन्हें ध्यान रखने के लिए कहा गया…

  • किसी भी अनजान व्यक्ति को फोन पर अपने बैंक खाता संबंधी एवं व्यक्तिगत जानकारी न दें।
  • मोबाइल टॉवर लगाने/किओस्क सेंटर खोलने सहित अन्य के नाम से आने वाले फोन कॉल/विज्ञापन से सावधान रहें और किसी भी अंजान व्यक्ति के खाते में पैसे न डालें।
  • फेसबुक/वॉट्सऐप या अन्य मैसेंजर पर कोई परिचित या दोस्त पैसों की डिमांड करे तो बिना जांचे या कॉल किए पैसे न भेजें।
  • फेसबुक का पासवर्ड स्ट्राॅन्ग बनाएं। जिसमें अल्फाबेट, कोई संख्या और कोई स्पेशल कैरेक्टर शामिल होने चाहिए, न की किसी का अपना नाम/मोबाइल नंबर।
  • कोई भी कस्टमर केयर नंबर गूगल से लेने की बजाय ओरिजनल वेबसाइट से हासिल करें। कस्टमर केयर नंबर हमेशा 1800 से ही शुरू होता है ना कि किसी मोबाइल नंबर से, हो सके तो किसी भी वेबसाइट के URL को सीधे टाइप कर उपयोग करें |
  • जनजान नंबर और कंपनी के नाम से भेजे गए मैसेज में लुभावने ऑफर की लिंक को क्लिक करने से बचें। अच्छा होगा की देखने के बाद डिलीट कर दें।
  • प्रोमोकार्ड, रिवार्ड पॉइंट, कैश बैक के लालच में ना आएं।
  • लॉटरी लगने के नाम से आए हुए वॉट्सऐप कॉल से सावधान रहें।
  • OLX ऐप में खरीदी-बिक्री करते समय सावधानी रखें, अच्छी तरह से जांच करने के बाद ही खरीदी बिक्री करें।
  • ऑनलाइन मनी ट्रांसफर साइट जैसे Airtel Money, PhonePe, Google Pay, PaytM में अनजान लिंक को क्लिक करने से बचें। ठग आपके खाते में बोनस/पैसा वापस करने के नाम से एक लिंक भेजते हैं जिस पर क्लिक करते ही आपके खाते से पैसा निकल जाएगा।
  • सोशल मीडिया फेसबुक, वॉट्सऐप में कम कीमत ब्रिकी के पोस्ट पर भरोसा न करें।
  • मोबाइल एप्लीकेशन जैसे ANYDESK/TEAM VIEWER का यूजर आईडी और पासवर्ड किसी भी अनजान व्यक्ति को न दें और किसी के कहने पर डाउनलोड भी न करें, इससे आपके मोबाइल का कंट्रोल ठग के पास चला जाएगा और आप ठगी का शिकार हो जाएंगे।
  • फोन पर आई किसी लिंक के जरिए किसी से अपने बैंक खाते की जानकारी जैसे OTP/CVV/PIN/UPI/ATM कार्ड की डिटेल साझा न करें। साइबर ठग रजिस्ट्रेशन के नाम पर एक छोटी राशि जमा करने का लालच देकर आपके बैंक डिटेल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
  • अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड अपने सामने ही स्वाइप कराएं। किसी अनजान व्यक्ति से ATM से रकम निकालने में मदद न लें और न ही उसे अपना ATM कार्ड दें। इससे कोई आपके कार्ड की क्लोनिंग कर सकता है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *