MP में 10वीं पास सेक्सटॉर्शन का शातिर: 15 साल का स्टूडेंट लड़की बनकर लड़कों के न्यूड वीडियो बनाता, फिर ब्लैकमेल कर पैसे ऐंठता, अपने चाचा को बनाया पहला शिकार


सिंगरौली28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मध्य प्रदेश के सिंगरौली में 15 साल का 10वीं पास स्टूडेंट सेक्सटॉर्शन का शातिर निकला। उसने लड़की बनकर लड़कों को फंसाया और उनके न्यूड वीडियो रिकॉर्ड कर लिए। उसने प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर लड़की के नाम से लड़कों को वॉट्सऐप कॉल किए और पोर्न वीडियो भेजे थे। फिर वीडियो कॉल कर उन्हें न्यूड कराकर उनकी रिकॉर्डिंग कर ली। फिर इन वीडियोज को सोशल मीडिया पर डालने की धमकी देकर पैसे ऐंठने लग गया। नाबालिग आरोपी ने सबसे पहला शिकार अपने चाचा को ही बनाया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसे रीवा बाल सुधारगृह में भेजा गया है।

एएसपी अनिल सोनकर ने बताया कि आरोपी टेक्नोलॉजी का जानकार है। उसने भारत में प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर अपने फोन में VPN के जरिए लोकेशन यूएई दिखाकर इंस्टाल कर रखा था। इससे वह लड़कियों के नाम से लड़कों को वॉट्सऐप पर कॉल करता था। आरोपी ने अब तक 15 से ज्यादा फर्जी आईडी बनाकर ठगी की है। इनमें से कई आईडी बंद भी हो चुकी हैं।

ऐसे पकड़ में आया आरोपी
मोरवी के एक 21 साल के युवक ने थाने में शिकायत दर्ज कराई कि प्रियंका नाम की एक युवती ने वॉट्सऐप कॉल कर उसका न्यूड वीडियो बना लिया है। अब वह वीडियो वायरल करने की धमकी देकर रुपयों की मांग कर रही है। वहीं मेरे पड़ोस का एक लड़का पहले वीडियो वायरल होने से रोक लेता था। लेकिन अब वह कह रहा है कि इस बार नहीं रोक पाएगा। पीड़ित के बयान से पुलिस को पड़ोसी लकड़े पर शक हुआ और उससे सख्ती से पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया और वही लड़का आरोपी निकला।

आरोपी लोगों को अपनी बातों में फंसाता था। उसके बाद पोर्न वेबसाइट से वीडियो डाउनलोड करके भेजता था और यह बताता था कि यह वही है। उसके बाद जब आदमी उसके जाल में फंस जाता था तो वह न्यूड वीडियो कॉल करने की जिद करता था। न्यूड वीडियो कॉल के दौरान वह वीडियो रिकॉर्ड कर लेता था और फिर वीडियो के दम पर ब्लैकमेल कर मनचाहे पैसे ऐंठ लेता था।

आरोपी इतना शातिर था कि वह पैसे हमेशा ऑनलाइन ही लेता था और उस पैसे से डार्कवेव के जरिए हैकिंग सॉफ्टवेयर खरीदता था। इसके अलावा क्रिप्टोकरंसी में भी उसने पैसे कन्वर्ट करवाए हैं, जिसकी जांच चल रही है।

घर से की ब्लैकमेलिंग की शुरुआत
मोरवा थाने के निरीक्षक मनीष त्रिपाठी ने बताया कि आरोपी ने अपने घर से ही ब्लैकमेलिंग की शुरुआत की। उसने पहला निशाना अपने सगे चाचा को बनाया। चाचा को उसने पहले एक पोर्न वीडियो भेजा। पोर्न देखने के बाद चाचा ने उससे बातचीत शुरू की। जब चाचा उसके जाल में फंस गया तो उसने वीडियो कॉल कर चाचा की रिकॉर्डिंग कर ली और ब्लैकमेल करने लगा। पुलिस ने बताया कि उसने चाचा से 25 हजार रुपए ऐंठ लिए थे। जब चाचा ने इसकी शिकायत कहीं नही की तो आरोपी की हिम्मत बढ़ती गई और कई लोगों को अपना शिकार बनाया।

कई अधिकारियों और नाबालिगों को शिकार बना चुका है आरोपी
नाबालिग आरोपी नॉर्दन कोल्डफील्ड लिमिटेड (NCL) के कई सीनियर और जूनियर अधिकारियों को भी शिकार बना चुका है। लेकिन बदनामी के डर से लोग सामने नहीं आए हैं। इसके अलावा उसने कई नाबालिग लड़कियों से लड़का बनकर भी बातचीत की है और उनके वीडियो बनाकर पैसे ऐंठे हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *