UP के चर्चित गैंगरेप केस में फैसला: बुलंदशहर में कोचिंग से लौट रही छात्रा को अगवाकर कार में रेप किया, फिर हत्या कर दी; 3 युवकों को मौत की सजा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बुलंदशहर42 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आरोपियों के नाम जुल्फिकार, इजराइल, दिलशाद हैं। बुलंदशहर की पॉस्को कोर्ट ने उन्हें दोषी पाए जाने के बाद फांसी की सजा सुनाई।

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 12वीं की छात्रा से कार में गैंगरेप और हत्या के 3 दोषियों को पॉक्सो कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई है। यह मामला 3 साल पुराना है। घटना के वक्त छात्रा कोचिंग से लौट रही थी। रास्ते में तीनों युवकों ने उसका अपहरण कर लिया था। बाद में उसका शव ग्रेटर नोएडा के पास एक माइनर नहर में मिला था। बुधवार को इस मामले में कोर्ट ने फैसला सुनाया। दोषियों को सजा सुनाए जाने के बाद छात्रा के परिवार ने कहा कि वे दोषियों को फांसी पर लटकते हुए देखना चाहते हैं।

कोर्ट ने कहा- यह सामान्य घटना नहीं
कोर्ट ने इस मामले में सख्त टिप्पणी करते हुए कहा है कि यह सामान्य घटना नहीं है। अगर पढ़ाई के लिए घर से बाहर निकलने वाली बेटियों की हिफाजत नहीं की गई तो सरकार के चलाए जा रहे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के कोई मायने नहीं रह जाएंगे।

2 जनवरी, 2018 को हुई इस घटना का 3 साल बाद बुधवार को फैसला आया। तीनों दोषियों को कोर्ट रूम में ले जाती पुलिस।

2 जनवरी, 2018 को हुई इस घटना का 3 साल बाद बुधवार को फैसला आया। तीनों दोषियों को कोर्ट रूम में ले जाती पुलिस।

साइकिल से घर की ओर जा रही थी छात्रा
नगर कोतवाली क्षेत्र के चांदपुर में रहने वाली छात्रा 2 जनवरी, 2018 को साइकिल से घर की ओर जा रही थी। रास्ते में कार से आए 3 युवकों ने उसे साइकिल से खींचकर अपनी गाड़ी में बिठा लिया था। चलती कार में उससे गैंगरेप किया गया। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। 2 दिन बाद 4 जनवरी को छात्रा का शव ग्रेटर नोएडा के दादरी में अकबरपुर और भोगपुर गांव के बीच रजवाहे में मिला था। पुलिस की जांच के बाद शव की शिनाख्त हुई और लड़की के परिवार ने 3 युवकों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कराया था।

10 दिन बाद पुलिस ने केस का खुलासा किया
इस घटना के बाद उत्तर प्रदेश की सियासत में उबाल आ गया था। भारी दबाव के बीच पुलिस ने 10 दिन बाद केस का खुलासा किया। पुलिस ने दावा किया कि तीनों नामजद युवक इस वारदात में शामिल थे। इसके बाद पुलिस ने सिकंदराबाद के इजराइल, जुल्फिकार और दिलशाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

कोतवाली से 200 कदम दूर से किया था अगवा
तीनों युवकों ने पुलिस के सामने कबूल किया था कि वे घर से न्यू ईयर सेलिब्रेट करने निकले थे। सड़क पर छात्रा को अकेला देख उन्होंने उसे किडनैप कर लिया। यह घटना कोतवाली देहात से महज 200 कदम की दूरी पर हुई थी। छात्रा के साथ चलती कार में दरिंदगी की गई। बाद में दुपट्टे से उसका गला घोंट दिया। फिर अकबरपुर के पास शव फेंककर फरार हो गए थे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *