UP के जौनपुर जेल में कैदियों का तांडव: साथी कैदी की मौत के बाद बवाल-तोड़फोड, जेल अस्पताल में आग लगाई; पुलिस ने आंसू गैस छोड़े, फायरिंग भी की


जौनपुरएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कैदियों ने जेल के भीतर तांडव मचा रखा है। डीएम-एसपी मौके पर पहुंचे हैं।

उत्तर प्रदेश की जौनपुर जेल में एक कैदी की मौत के बाद दूसरे कैदियों ने बवाल कर दिया। उन्होंने पथराव और तोड़फोड़ के बाद जेल के अस्पताल में आग लगा दी। पुलिस ने गैस के तीन सिलेंडर अपने कब्जे में ले लिए हैं। सूचना पाकर फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां भी मौके पर पहुंची हैं। ड्रोन कैमरे से जेल के भीतर नजर रखी जा रही है।

अब तक मिली सूचना के मुताबिक, पुलिस 35 से ज्यादा आंसू गैस के गोले छोड़ चुकी है। हवाई फायरिंग भी कर रही है। बवाल में एक सिपाही घायल हो गया है। पूरे सर्किल की फोर्स को मौके पर बुलाया गया है।

बेकाबू कैदियों के सामने जेल प्रशासन बेबस नजर
बेकाबू कैदियों के सामने जेल प्रशासन बेबस नजर आया अधिकारियों ने कैदियों से कहा- वे डीएम और एसपी के सामने अपनी बात रख सकते हैं। उनकी मांगों को तत्काल पूरा किया जाएगा। अधिकारी माइक पर यह अनाउंस कर रहे हैं। जेल में करीब एक हजार कैदी बंद हैं। मामला बढ़ता देख वाराणसी जोन के प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। कमिश्नर दीपक अग्रवाल और आईजी एसके भगत मौके पर हैं। जौनपुर प्रशासन बंदियों से शांति बनाए रखने की अपील कर रहा है।

कैदियों के बवाल में पुलिसकर्मी घायल हो गया। उसे अस्पताल भेजा गया।

कैदियों के बवाल में पुलिसकर्मी घायल हो गया। उसे अस्पताल भेजा गया।

अचानक खराब हुई थी कैदी की तबीयत
बवाल की शुरुआत बागीस मिश्रा उर्फ सरपंच नाम के एक कैदी की मौत के साथ हुई। रामपुर के बनीडीह गांव निवासी बागीस डबल मर्डर का दोषी है। वह 6 जनवरी से जेल में बंद था। आज तबीयत खराब होने से उसे जिला अस्पताल ले जाया जा रहा था, तभी रास्ते में उसकी मौत हो गई।

मृतक के परिजनों ने जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। परिजनों के मुताबिक, कैदी की तबीयत 3 दिन से खराब चल रही थी। आज भी गंभीर हालत के बाद भी 4 घंटे देरी से लाया गया।

पुलिस ड्रोन से रख रही नजर।

पुलिस ड्रोन से रख रही नजर।

प्रशासन बेबस, अनाउंस कर अधिकारी बोल रहे- कैदियों पर नहीं होगी कार्रवाई
जेल प्रशासन कैदियों के सामने बेबस हो गया। अधिकारियों ने कैदियों से अपील की उनकी मांगों को सुना जाएगा। डीएम और एसपी से कोई भी कैदी अपनी बात रख सकता है। कैदियों की मांगों को तत्काल पूरा किया जाएगा। किसी भी कैदी के ऊपर कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी। अधिकारी इस बात को माइक के जरिए अनाउंस कर रहे हैं।

घटना के बाद पूरे सर्किल की पुलिस तैनात है।

घटना के बाद पूरे सर्किल की पुलिस तैनात है।

6 जनवरी 2021 से जेल में सजा काट रहा था
कैदी को 3 जून को शाम करीब 10 बजे जेल के अस्पताल में लो बीपी, डायबिटीज और सांस की समस्या के बाद भर्ती किया गया था। इसी दौरान तबीयत खराब होने पर उसे शुक्रवार दोपहर एक बजे जौनपुर के जिला अस्पताल भेजा गया। यहां डेढ़ बजे के आसपास डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने जेल को चारों ओर से घेर लिया है।

पुलिस ने जेल को चारों ओर से घेर लिया है।

कैदी के भाइयों ने शुरू किया उत्पात
घटना के बाद कैदी के तीन अन्य भाई जेल पहुंचे और अन्य कैदियों के साथ मिलकर उपद्रव शुरू कर दिया। ईंट-पत्थर भी चलाने लगे, जेल के किचन में मौजूद गैस सिलेंडर से आगजनी की धमकी भी देने लगे। देखते-देखते आग भी लगा दी। इस दौरान एक पुलिसकर्मी भी घायल हो गया। घटना के बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गई है। कैदियों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *