UP चुनाव से पहले प्रेशर पॉलिटिक्स: केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो सकती हैं अनुप्रिया, हरसिमरत की जगह मिल सकता है मौका; पति भी योगी कैबिनेट में आ सकते हैं


लखनऊएक मिनट पहलेलेखक: विनोद मिश्र

  • कॉपी लिंक

अनुप्रिया पटेल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करके अपनी कई मांगें उनके सामने रखी। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की सियासत में गुरुवार को दो बड़ी हलचल देखने को मिली। पहली ये कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अचानक दिल्ली पहुंच गए। यहां उन्होंने BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। दूसरी ये कि अपना दल (एस) की अध्यक्ष और सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी गृहमंत्री शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद से एक बार फिर राजनीतिक गलियारे में चर्चाएं शुरू हो गई हैं कि अनुप्रिया मोदी कैबिनेट में वापस शामिल हो सकती हैं। उन्हें हरसिमरत कौर बादल की जगह केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।

यूपी सरकार में भी नेताओं के हिस्सेदारी बढ़ाने की मांग
सूत्रों की मानें तो अनुप्रिया ने केंद्र के साथ उत्तर प्रदेश में भी संभावित मंत्रिमंडल विस्तार में अपना दल के प्रतिनिधित्व को लेकर अमित शाह से बात की। यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष और प्रदेश के निगम और आयोग में पार्टी नेताओं को शामिल करने के लिए कहा। बताया जाता है कि कई मुद्दों पर शाह और अनुप्रिया में सहमति भी बन गई है।

मोदी की दूसरी सरकार में नहीं मिली थी जगह

अपना दल (एस) की अध्यक्ष व सांसद अनुप्रिया पटेल ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

अपना दल (एस) की अध्यक्ष व सांसद अनुप्रिया पटेल ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

2014 में जब मोदी सरकार आई थी तब अनुप्रिया पटेल को केंद्रीय मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री बनाया गया था, लेकिन 2019 में उन्हें जगह नहीं मिली। इसके बाद से ही वह नाराज बताई जा रहीं थीं। हालांकि, उन्होंने खुलकर कभी भी मोदी सरकार या योगी सरकार पर हमला नहीं किया। अब अगले साल उत्तर-प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में अनुप्रिया ने फिर से गठबंधन को लेकर भी बातचीत शुरू कर दी है। बताया जाता है कि गुरुवार को अमित शाह से हुई मुलाकात के दौरान उन्होंने ये कहा कि अगर अगले साल चुनाव में ये गठबंधन जारी रखना है तो इसके लिए उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल कराया जाए और यूपी में उनके नेताओं को सरकार में जगह दी जाए। अनुप्रिया ने अपने MLC पति आशीष पटेल को योगी मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए भी दबाव बनाया। यूपी में अपना दल एस के 9 विधायक हैं। एक विधायक को मंत्री बनाया गया है।

समाजवादी पार्टी के साथ अपना दल के गठबंधन की चर्चाएं
कुछ दिनों पहले तक यूपी में अनुप्रिया पटेल की समाजवादी पार्टी के साथ जाने को लेकर खूब चर्चा हो रही थी। कहा जा रहा था कि यूपी में सत्ताधारी बीजेपी को मात देने के लिए समाजवादी पार्टी इस बार छोटे-छोटे दलों को मिलकर एक मजबूत गठबंधन बनाने में जुटी है। इस कड़ी में सपा की नजर अनुप्रिया पटेल की अपना दल (सोनेलाल) पर है। अनुप्रिया का कुर्मी वोटों पर काफी अच्छी पकड़ है। लिहाजा यह बीजेपी और समाजवादी पार्टी दोनो के लिए खास महत्व रखती है।

मुलाकात का कोई सियासी मकसद नहीं
अनुप्रिया पटेल की अमित शाह के मुलाकात के बाद दैनिक भास्कर ने अपना दल के कार्यकारी अध्यक्ष आशीष पटेल से बात की। आशीष पटेल ने कहा कि ‘पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने गृह मंत्री अमित शाह से शिष्टाचार मुलाकात किया है। इसके पीछे कोई सियासी मकसद नहीं था। बहुत दिनों में गृहमंत्री से मुलाकात नहीं हो पाई थी। इसलिए वह मिलने गई थीं। इसके पीछे कोई एजेंडा नहीं हैं।’

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *